मौत की घाटी में आई तबाही.. डेथ वैली की रहस्यमयी कहानी (Mysterious Story of the Moving Rocks of Death Valley of  California)

Share

मौत की घाटी में आई तबाही..यहां पसीना भी भाप बनकर उड़ जाता है..पत्थर खिसकते हैं अपने आप..अंगारे बरसाने वाली है गर्मी- वैज्ञानिक भी हैं हैरान.. हिंदी में जानें Death Valley of California | अमेरिका की डेथ वैली | रहस्यमयी जगह Mysterious Story of the Moving Rocks of Death Valley of California.

Death Valley of California,  मौत की घाटी, अमेरिका की डेथ वैली, रहस्यमयी जगह, गर्म जगह, डेथ वैली रहस्य, डेथ वैली तापमान, पत्थर खिसकना, Death Valley National Park, वैज्ञानिक रहस्य, डेथ वैली के पत्थर, डेथ वैली के बारे में, डेथ वैली, चलने वाले पत्थर, रहस्य, विज्ञान, प्रकृति,
Death Valley of California

Table of Contents

डेथ वैली की रहस्यमयी कहानी (Mysterious Story of the Moving Rocks of Death Valley of  California)

हमारी यह दुनिया रहस्यमयी जगहों से भरी है। उन्हीं रहस्यों में से एक है “डेथ वैली नैशनल पार्क के चलने वाले पत्थर”। उन पत्थरों को लेकर आम लोगों की धारणाएं कुछ और हैं, तो वैज्ञानिकों का मानना कुछ और है। दोस्तों आज हम जानेंगे “डेथ वैली” के बारे में जो की उत्तरी अमेरिका का एक विचित्र स्थान है।अमेरिका की ये डेथ वैली (Death Valley) भी एक रहस्यपूर्ण जगह है, इसका रहस्य अब तक लोगों की समझ में नहीं आया है। यह खतरनाक जगह अब तक हजारों लोगों की जान ले चुकी है, क्योंकि यहां जमीन का तापमान इतना है कि आप आसानी से खाना बना सकते हैं। यह जगह “मौत की घाटी” से जाना जाता है, क्योंकि यहाँ ज़िन्दा रह पाना नामुमकिन है।

कैलिफोर्निया की मौत की घाटी का स्थान

डेथ वैली के बारे में

  • डेथ वैली कैलिफोर्निया के दक्षिण-पूर्व में नेवाडा के सीमा के पास स्थित है।
  • यह घाटी 225 किलोमीटर लंबी और 8 से 24 किलोमीटर चौड़ी है।
  • डेथ वैली उत्तरी अमेरिका का सबसे गर्म स्थान है।
  • यहाँ का तापमान 56.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच चुका है।
  • यहाँ की जमीन का तापमान 89 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच चुका है।
  • यहाँ की चट्टानों और मिट्टी में अलग-अलग तत्व जैसे:- बोरेक्स, नमक, सोना और चाँदी पाए जाते हैं।
  • इस घाटी को “मौत की घाटी” कहा जाता है, क्योंकि यहाँ भारी गर्मी और सूखापन के कारण कई लोगों और जानवरों की मौत हो चुकी है।

अमेरिका के डेथ वैली कैलिफोर्नियाँ के दक्षिण – पूर्व में नेवाडा के सीमा के पास स्थित है। इस घाटी की लम्बाई 225 किलोमीटर और इसकी चौड़ाई अलग – अलग स्थानों पर अलग – अलग है। ये 8 से 24 किलोमीटर के बिच में है। मजेदार की बात ये है, की यहाँ की चौड़ाई फिक्स नहीं है। ये हमेशा घटती बढती रहती है। डेथ वैली उत्तरी अमेरिका के सबसे गर्म स्थान है। इसकी तली सबसे निचे है, और इसकी तली का सबसे निचा स्थान समुन्द्र तल से 86 मीटर, 282 फुट निचे है।दूसरी हैरान कर देने वाली बात ये है की समुन्द्र तल से 282 फीट निचे होने के बाद भी यह घाटी एक दम सुखी है। यहाँ नॉर्मल टेम्प्रेचर भी 50 डिग्री से ऊपर रहता है। यहाँ इंसान का रह पाना नामुमकिन है। साल 1913 में पूरी दुनिया में दुसरे नंबर पर यहाँ का तापमान 56.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो गिनेस बुक ऑफ़ रेकॉर्ड में दर्ज है। लेकिन यह घाटी रंग-बिरंगी चट्टानों से भरी है। इसे देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है।    

56.7 डिग्री तापमान के बावजूद अगर कोई यहाँ आने की सोचे तो एक और आंकड़ा उसके कदम रोक लेगा।यहाँ जमीनपर तापमान और ज्यादा रहता है। इस डेथ वैली पर जाना मतलब अपनी जान जोखिम में डालना मन जाता है। (डेथ वैली तापमान) 15 जुलाई 1972 को यहाँ की जमीन का तापमान 89 डिग्री सेल्सियस पाया गया था, यानि पानी उबलने के तापमान से सिर्फ 11 डिग्री कम। यह घाटी लम्बी मगर संकरी है, और ऊँचे पहाड़ों से घिरी है। रात में भी यहाँ का तापमान 28 से 37 डिग्री के बिच रहता है।

भूवैज्ञानिकों के मुताबिक:

Death Valley of California

भूवैज्ञानिकों का मनना है की इस जगह पर कभी समुन्द्र रहा होगा, क्योंकि यह समुन्द्र तल के निचे है और घाटियों में नमक के टीले भी हैं। इस क्षेत्र के रेगिस्तान बनने के साथ ही पानी सुख गया और ढेर सारा नमक बचकर टीला बन गया होगा। यहाँ की पहाड़ों और मिट्टी में अलग – अलग तत्व जैसे:-  बोरेक्स, नमक, सोना और चाँदी पाए जाते हैं।
 
अमेरिका जाने के लिए लोगों को इस घाटी से होकर गुजरना पड़ता था। बेहद गर्मी होने की वजह से यहाँ से गुजरने वाले इंसान या जानवरों के शरीर में पानी की कमी हो जाती थी। जिसके चलते वे रास्ते में ही दम तोड़ देते थे, बाद में वैज्ञानिकों ने जब इस जगह पर खोज की तो उन्हें वहाँ बड़ी मात्रा में इंसानों और जानवरों की हड्डियाँ मिलीं। जिसके बाद से लोग इस जगह को ‘डेथ वैली’ (Death Valley) या ‘मौत की घाटी’ कहने लगे।अमेरिकी सरकार ने वर्ष 1933 में इस वैली में मरने वाले लोगों की याद में राष्ट्रीय स्मारक बनवाया है।

कैलिफोर्निया की मौत की घाटी के रहस्यमय तापमान के पीछे का कारण: (डेथ वैली के गर्म होने के कारण)

death vally of colifornia image

डेथ वैली के इतना ज्‍यादा गर्म होने की बहुत सारी वजहें हैं, यहाँ बारिश बहुत कम होती है, सर्दी ना के बराबर पड़ती है। प्रशांत महासागर से उठी हवा इस जगह पर जब तक पहुँचती है, उसकी सारी नमी सोख ली जा चुकी होती है, इसलिए यहाँ सिर्फ गर्म हवाएं ही पहुँचती हैं। इस घाटी का सरफेस ऐसा है, जो सूरज की रौशनी में धधक उठता है। समुन्द्र तल से ज्‍यादा नीचे जाने पर हवा कम्‍प्रेस होकर गर्म हो जाती है, और यह घाटी अच्‍छी-खासी नीचे है,लेकिन फिर भी ये घाटी गर्म रहती है।

डेथ वैली में खिसकते पत्थर (डेथ वैली का रहस्य)

इस डेथ वैली से जुड़े आश्चर्य केवल यहीं तक सीमित नहीं हैं। कहा जाता है कि यहाँ पर भारी-भरकम पत्थर भी नियमित रूप से आगे खिसकते रहते हैं। खिसकने वाले इन पत्थरों का वजन 100 किलो से ज्यादा होता है। वे अपनी जगह छोड़कर 3 किलोमीटर आगे तक पहुँच जाते हैं। जब पत्थर आगे खिसकते हैं तो उनके पीछे एक गहरा निशान बन जाता है। वैज्ञानिक आज तक इस बात को समझ नहीं पाए हैं कि बिना किसी बाहरी दबाव के ये भारी-भरकम पत्थर अपना स्थान छोड़कर आगे कैसे बढ़ जाते हैं। कई वैज्ञानिकों का अनुमान है कि तेज हवाओं की वजह से ऐसा हो सकता है। हालांकि हैरानी की बात ये है कि आज तक किसी ने इन पत्थरों को अपने सामने खिसकते हुए नहीं देखा है। ऐसे में ये पत्थर कब और कैसे आगे तक खिसकते हुए चले जाते हैं। यह बात लोगों के लिए आज तक बहुत बड़ा रहस्य बनी हुई है।

रेसट्रैक प्लाया और पत्थरों का रहस्य: (वैज्ञानिक रहस्य)

डेथ वैली या मौत की घाटी में रेसट्रैक प्लाया नाम का एरिया है जहां पहले कभी झील हुआ करती थी।अब वह झील सुख गई है, और पूरी इलाका समतल जमीन है, जो पत्थरों के खिसकने के लिए बहुत उपयुक्त है। वहाँ पत्थर चलते हैं, इसका पता 1948 में पहली बार चला। पत्थरों के आगे बढ़ने का निशान वहाँ जमीन पर जमी हुई धूल पर पड़ जाता है। हाल ही में वहाँ वैज्ञानिकों ने कुछ पत्थरों में जीपीएस ट्रैकर लगा दिए ताकि उनकी गतिविधि पर नजर रहे। किसी ने चट्टान को आगे की ओर खिसकते नहीं देखा है। ऐसे में लोगों के बीच इसको लेकर तरह-तरह की धारणाएं पाई जाती हैं। कुछ लोगों का कहना है कि एलियंस की वजह से ऐसा होता है तो कुछ मैग्नेटिक फील्ड को इसके लिए जिम्मेदार करार देते हैं।

डेथ वैली के चलने वाले पत्थरों के वैज्ञानिक स्पष्टीकरण (डेथ वैली रहस्य)

नासा के वैज्ञानिक का दावा

  • कुछ वर्षों पहले नासा के एक वैज्ञानिक राफ लॉरेंज ने इसकी वजह पता लगाने का दावा किया।
  • उनका कहना था, कि झील की सतह पर कुछ पानी रहता है, जो ठंड में जम जाता है और झील की सतह पर कुछ पत्थर मौजूद हैं।
  • जिसके नीचे का पानी पत्थर बनकर उनसे चिपका रहता है।
  • फिर जब मौसम गर्म होता है, तो पत्थर से चिपका बर्फ पिघल जाता है।
  • जिससे झील की सतह पर थोड़ा पानी जमा हो जाता है।
  • फिर जब हवा चलती है, तो दबाव पड़ने की वजह से पत्थर आगे खिसकने लगता है, और बर्फ की वजह से झील की सतह पर निशान पड़ जाता है।
  • लेकिन सही मायिने में आज तक इस रहस्य का पता कोई नहीं लगा पाया है।

वैज्ञानिकों के पास क्या हैं जवाब?

कुछ वर्षों पहले नासा के एक वैज्ञानिक राफ लॉरेंज ने इसकी वजह पता लगाने का दावा किया। उनका कहना था, कि झील की सतह पर कुछ पानी रहता है, जो ठंड में जम जाता है और झील की सतह पर कुछ पत्थर मौजूद हैं। जिसके नीचे का पानी पत्थर बनकर उनसे चिपका रहता है। फिर जब मौसम गर्म होता है, तो पत्थर से चिपका बर्फ पिघल जाता है। जिससे झील की सतह पर थोड़ा पानी जमा हो जाता है। फिर जब हवा चलती है, तो दबाव पड़ने की वजह से पत्थर आगे खिसकने लगता है, और बर्फ की वजह से झील की सतह पर निशान पड़ जाता है। लेकिन सही मायिने में आज तक इस रहस्य का पता कोई नहीं लगा पाया है। “डेथ वैली नैशनल पार्क के चलने वाले पत्थर” आज भी एक रहस्य बनी हुई है।

डेथ वैली के बारे में लोगों की अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

डेथ वैली क्या है?

डेथ वैली, जिसे हम “मौत की घाटी” भी कहते हैं, यह एक जगह है जो कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में है। यह एक रहस्यमयी स्थल है जो अपने अधिक तापमान के लिए प्रसिद्ध है।

मृत घाटी (डेथ वैली) क्यों प्रसिद्ध है?

यहाँ की प्रमुख पहचान विश्व के सबसे गर्म स्थलों में से एक है, जिसका मतलब है कि यहाँ पर तापमान बेहद उच्च होता है, और इससे जुड़े कई रोचक रहस्य हैं। जिनमे से एक है यहाँ के अपने आप चलने वाले पत्थर.

मृत घाटी किस देश में स्थित है?

मृत घाटी, जिसे हम “मौत की घाटी” भी कहते हैं, यह कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका, में स्थित है।

मृत्यु की घाटी कहाँ पर स्थित है?

मृत्यु की घाटी, जिसे डेथ वैली भी कहते हैं, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका, में स्थित है, जहाँ बेहद अधिक तापमान होता है।

मौत की घाटी कहां से आती है?

मौत की घाटी का नाम कैलिफोर्निया के उच्च तापमान से है, जो इस जगह को प्रसिद्ध करता है।

मौत की घाटी को मौत की घाटी क्यों कहा जाता है?

मौत की घाटी” का नाम इसलिए है क्योंकि यहाँ के अत्यधिक तापमान और अवबद्धता व रहस्य के कारण यहाँ पर जीवन जीना कठिन होता है, जिससे लोगों को बीमारियों का सामना करना पड़ता है। यहाँ तक की यां आज तक कई मौते हो चुकी हैं और हो रही हैं. वहां की सर्कार ने उनके सम्मान में स्मारक भी बनवाए हैं.

मौत की घाटी का अर्थ क्या है?

मौत की घाटी” का अर्थ है कि यह स्थल अत्यधिक उच्च तापमान और कठिनाइयों से भरपूर है, जिससे यह नाम प्राप्त हुआ है।

कैलिफोर्निया में मौत की घाटी का क्या रहस्य है?

कैलिफोर्निया में मौत की घाटी के रहस्य का सबसे बड़ा कारण है तापमान का विशेष रूप से उच्च होना, जिस कारण यहाँ अलग ही जलवायु होता है।

कैलिफोर्निया में डेथ वैली का नाम ऐसा क्यों रखा गया?

कैलिफोर्निया में डेथ वैली का नाम उसके एक्सट्रीम गर्म तापमान और वातानुकूलन के लिए ऐसा रखा गया है, जिससे यह स्थल अनोखा होता है। क्यों की इसकी जलवायु में जिन्दा रहना नामुमकिन सा होता है, इसके अलावा गर्मी की वजह से अकरस लोगों की मौतें हो जाती हैं.

दुनिया की सबसे गर्म जगह कौन सा है?

दुनिया की सबसे गर्म जगह का निर्धारण दो तरीकों से किया जा सकता है: अधिक तापमान दर्ज करने वाला स्थान के आधार पर और औसत तापमान के आधार पर लेकिन मृत घाटी, यानी कैलिफोर्निया, जो संयुक्त राज्य अमेरिका, में है, दुनिया की सबसे गर्म जगहों में से एक है. वर्तमान में अज़ीज़िया, लीबिया सबसे गर्म जगह में पहले नंबर पर है और कैलिफोर्निया की डेथ वैली तीसरे नंबर पर है.

निष्कर्ष:

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको “Death Valley of California (मौत की घाटी) की रहस्यमयी कहानी की जानकारी आपको पसंद आई होगी। और आपके सभी सवालों के जवाब मिल गए होंगे! लेकिन फिर भी अगर आपका कोई सवाल है तो निचे कमेंट में जरुर बताये और ये जानकारी आपको कैसी लगी, ये भी हमें जरुर बताये!

हम अपने सभी ऑडियंस के सभी सवालों का जवाब देते हैं. यह हमें और अच्छे कंटेंट को लाने या काम करने के लिए प्रोत्साहित करता है.

साथ ही रोजाना कुछ नया जानने सीखने के लिए आप नीचे दिए गए फॉर्म में अपना प्यारा नाम और ईमेल भरकर हमें सब्सक्राइब कर सकते हैं.

इसके अलावा आप रेड कलर में दिए गए घंटे पर क्लिक करके हमें आप सब्सक्राइब करें और हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को भी ज्वाइन जरूर करें ताकि हमारे आने वाली सभी नए पोस्ट और कंटेंट की जानकारी आपको मिल सके। मिलते हैं किसी नए जानकारी भरे सफर में, तब तक के लिए अपना ख्याल रखें!

joine whatsapp group

और पढ़ें:-

दही से फेसियल कैसे करें?-20 मीनट में मिलेगा पार्लर से भी ज्यादा नेचुरल ग्लो!

2घंटे में डिलीवरी+72% तक का छुट, मंगाए घर बैठे ऑनलाइन दवाइयां

30 मिनट में डिलीवरी+भारी छूट घर बैठे मंगाए ऑनलाइन खाना

चिंगम कैसे बनती है?- क्या सूअर से बनती है?.. जानें अविष्कार से आपके घर तक विस्तार से

समा गया समुन्द्र में पूरा शहर-अटलांटिस शहर का रहस्यमय कहानी

भोर होते ही चिड़िया क्यों शुरू कर देती है चहचहाना?- वैज्ञानिकों ने किया खुलासा

5 साल की उम्र में चली गई आंखों की रोशनी-तकलीफों को दिया मात-IAS बनकर कायम किया मिसाल!

Yoga for Diabetes: डायबिटीज रोगियों के लिए वरदान हैं ये 5 योगासन- आज ही से शुरू करें ये काम!

+ posts

आइए मिलिए Md Sarfraj से, हमारे साइंस, फैक्ट्स, कहानी एडिटर और कंटेंट राइटर से। उन्हें साइंस से काफी ज्यादा लगाव है और रोचक कंटेंट बनाने की आदत है, जिससे हमारे पाठकों को सही और जानकारीपूर्ण जानकारी मिलती है। चाहे आप रोचक साइंस तथ्यों की तलाश में हों या कहानियों के जादू में खो जाना चाहते हों, सरफराज आपकी सेवा में हमेशा तैयार हैं।

उनकी लेखनी से साइंस के जटिल विषयों को समझना बहुत आसान हो जाता है। तो बस, तैयार हो जाइए और सरफराज के साथ साइंस की दुनिया में एक रोमांचक यात्रा पर निकल जाइए।

🏀 Simons’ Mystery Illness: Blazers Brace for Nets Clash! 🚀 | Game-Time Decision Sparks Excitement! Will He Fly or Flop? Simons’ Illness Threatens Blazers’ Nets Showdown! 🆚 #3: सोच बदलो, दुनिया बदलो! “Think And Grow Rich” के 3 माइंडसेट टिप्स (हिंदी ईबुक) सिर्फ 9 रुपये में बदलें अपनी जिंदगी! “Think and Grow Rich” के 3 जादुई सूत्र (हिंदी ईबुक) 2024 जिंदगी बदल देगी आपकी ! ‘Think and Grow Rich’ के 10 जादुई रहस्य
🏀 Simons’ Mystery Illness: Blazers Brace for Nets Clash! 🚀 | Game-Time Decision Sparks Excitement! Will He Fly or Flop? Simons’ Illness Threatens Blazers’ Nets Showdown! 🆚 #3: सोच बदलो, दुनिया बदलो! “Think And Grow Rich” के 3 माइंडसेट टिप्स (हिंदी ईबुक) सिर्फ 9 रुपये में बदलें अपनी जिंदगी! “Think and Grow Rich” के 3 जादुई सूत्र (हिंदी ईबुक) 2024 जिंदगी बदल देगी आपकी ! ‘Think and Grow Rich’ के 10 जादुई रहस्य